Sale!

Understanding muhammad अंडरस्टेंडिंग मोहम्मद अली सीना

Share this product

1,000.00  900.00 

Product Description

कनाडा मूल के (xmuslim) अली सीना, जिन्होंने मुहम्मद पैगम्बर और इस्लाम का गहरा और बारीकी से अध्ययन किया और इस्लाम त्याग दिया…✍️  इस्लाम त्याग देने के बाद उन्होंने किताब लिखी, “The Understanding muhammad” जो मुहम्मद साहब की जीवनी पर एक बेजोड पुस्तक है अली सीना ने इस किताब के जरिये मुहम्मद साहब पर दस अत्यन्त भीषण आरोप लगाए है,जो इस तरह है  खुदगर्ज,अपनी ताकत के लिए कुछ भी करने वाला…!  छोटे बच्चों से सेक्स कर सेक्स की तरफ आकर्षित होने वाला…!  पुरे समुदाय का हत्यारा…!  आतंकवादी…!  औरतो से घृणा करने वाला…!  किसी भी प्रकार की औरत से यौन सम्बन्ध बांधने वाला…!  अपना समुदाय बनाकर खुद के नियम लागु करने वाला…!  पागल इंसान…!  बलात्कारी…!  यातना (कष्ट) देने वाला…!  प्रमुख व्यक्तिओ को मारने वाला…!  चोर, डाकू डकैत…!  अली सीना ने दुनिया के १६० करोड मुसलमानो को चेलेंज किया हे की मेरे इन लगाए आरोपो को कोई भी गलत साबित करदे तो में उन्हें ५०००० $ (डॉलर) इनाम के तौर पर दूंगा…बस शर्त यही है की जो भी ये चेलेंज स्वीकार करता हे उसने उनकी लिखी किताब understanding muhammad पढी हो…?  अब हुआ यह की बहुत से विधवानो ने इस चेलेंज को स्वीकार किया,और शास्त्रार्थ करने के लिए किताब पढ़ी तो उन्होंने भी इस्लाम को त्याग दिया,और कई लोग त्यागने वाले भी है…!  अभी तक कोई मुल्ला, मौलवी, या मुफ़्ती इनको पराजित नही कर सका है कई लोग तो इनके ब्लाक पढकर ही इस्लाम छोड़ देते है..|

 

 

 

ईरानी मूल के पूर्व मुस्लिम जो अब कनाडा में रहते है अली सीना, जिन्होंने मुहम्मद पैगम्बर के जीवन, और इस्लाम का गहरा और बारीकी से अध्ययन किया और इस्लाम त्याग दिया।
इस्लाम त्याग देने के बाद उन्होंने किताब लिखी, “The Understanding Muhammad” जो पैगम्बर मुहम्मद की जीवनी पर एक बेजोड पुस्तक है। अली सीना ने इस किताब के जरिये इस्लाम और पैगम्बर पर दस अत्यन्त भीषण आरोप लगाए है,
अली सीना ने दुनिया के 160 करोड मुसलमानो को चेलेंज किया हे की मेरे इन लगाए आरोपो को कोई भी गलत साबित करदे तो में उन्हें 50,000 $ (डॉलर) इनाम के तौर पर दूंगा।
बस शर्त यही है की जो भी ये चेलेंज स्वीकार करता हे उसने उनकी लिखी किताब “The Understanding Muhammad” को पढी हो।
अब हुआ यह की बहुत से इस्लामिकविद्वानों ने इस चेलेंज को स्वीकार किया, और शास्त्रार्थ करने के लिए किताब पढ़ी तो उन्होंने भी इस्लाम को त्याग दिया, और कई लोग त्याग ने वाले भी है ऐसा अली ने दावा किया है ।
अभी तक कोई मौलवी, या मुफ़्ती इनको पराजित नही कर सका हे। कई लोग तो इनके ब्लॉग पढकर ही इस्लाम छोड़ देते हे।